DBTL Yojana In Hindi | DBTL Bihar | डीबीटीएल योजना

on

|

views

and

comments

DBTL Yojana In Hindi – डीबीटीएल योजना दुनिया की सबसे बड़ी प्रत्यक्ष लाभ हस्तान्तरण योजना बन गई हैं. इस योजना के तहत रसोई गैस के लिए ग्राहकों को सीधे नकद सब्सिडी उनके बैंक अकाउंट में भेज दी जाती हैं. इस योजना के माध्यम से उपभोक्ता को नकद सब्सिडी दी जाती हैं. जिससे ग्राहक बाजार भाव पर रसोई गैस खरीद सके.

इस योजना की शुरुआत 1 जून 2013 को प्रायोगिक तौर पर DBTL Bihar और देश के अन्य राज्यों के 291 जिलों में शुरू की गई थी.

डीबीटीएल योजना का नाम दो बार बदला जा चुका हैं. सबसे पहले इस योजना का नाम DBTL (Direct Benefit Transfer For LPG) रखा गया था. उसके बाद इस योजना का नाम बदलकर MDBTL कर दिया गया. और अभी इस योजना का नाम बदलकर Pahal Yojana कर दिया गया हैं.

DBT Agriculture Bihar Govt, डीबीटी बिहार सरकार

Krishi Vibhag Bihar Sarkar, कृषि विभाग बिहार सरकार

DBTL Yojana In Hindi, DBTL Bihar, डीबीटीएल योजना

डीबीटीएल योजना में कई सुधार करने के बाद 1 जनवरी 2015 में DBTL Bihar सहित पुरे देश में लागु कर दिया गया. इस योजना को भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने Pahal Yojana के नाम से इस योजना की शुरुआत किया हैं.

इस Pahal Yojana से भारत सरकार ने डिजिटल इंडिया को भी बढ़ावा दिया हैं. इस योजना के अंतर्गत जो रसोई गैस की सब्सीडी दी जायगी वह उपभोक्ता के सीधे बैंक अकाउंट में ट्रांस्फर की जायगी. जिससे उपभोक्ता को कोई भी कागजी करवाई नहीं करनी पड़ती हैं.

Pahal Yojana Full Form – Pratyaksh Hanstantarit Labh

DBTL Full Form – Direct Benefit Transfer For LPG

DBTL Scheme In Hindi

  • इस योजना के तहत देश में LPG के जितने भी उपभोक्ता हैं. उनको Direct Benefit Transfer For LPG योजना का लाभ मिलेगा.
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय दुवारा इस योजना की निगरानी की जाती हैं.
  • पहल योजना के माध्यम से LPG गैस सिलेंडर पर सब्सिडी दी जायगी.
  • इस योजना का लाभ सीधे LPG उपभोक्ता को मिलेगा.
  • इस योजना के शुरू हो जाने से बाजार में LPG की कालाबाजारी समाप्त हो जायगी.
  • जिसके पास पहले आधार कार्ड था. वही उपभोक्ता इस योजना का लाभ ले सकता था. लेकिन अब नई नियम के अनुसार जिनके पास बैंक अकाउंट हैं. वह भी इस योजना का लाभ ले सकता हैं.
  • उपभोक्ता को इस योजना के तहत 14.2 किलोग्राम वाली सिलेंडर को एक वर्ष में 12 और 5 किलोग्राम वाली 34 सिलेंडर पर ही सब्सीडी दी जायगी.
  • इस योजना का लाभ लेने एक लिए उपभोक्ता के पास बैंक अकाउंट होना जरुरी हैं. क्योंकि सब्सिडी का पैसा उपभोक्ता के सीधे बैंक अकाउंट में जाता हैं.

यदि आप डीबीटीएल योजना का लाभ लेना चाहते हैं. तो इसके लिए आपके पास किसी भी एलपीजी कंपनी का उपभोक्ता होना जरुरी हैं. मतलब आपके पास गैस का कनेक्शन होना चाहिए. उसके बाद आपको गैस वितरण एजेंसी के पास जाकर एक फॉर्म भरना होता हैं. और उस फॉर्म के साथ आपको कुछ दस्तावेज़ भी जमा करना पड़ता हैं. जैसे – बैंक अकाउंट, आधार कार्ड इत्यादि.

आप इस योजना से जुड़ना चाहते हैं. तो आपको एलपीजी गैस वितरक एजेंसी या बैंक को एक फॉर्म भर कर देना पड़ता हैं. उस फॉर्म का एक सैंपल आपको निचे दिया गया हैं.

1. Bank Aadhar Link Form – अपने बैंक अकाउंट को आधार से लिंक करने के लिए निचे दिए गए फॉर्म को भरना पड़ता हैं. और बैंक में जामा करना पड़ता हैं.

2. LPG Linking Form – एलपीजी गैसे वितरक के पास लिंक करने के लिए भरा जाने वाला फॉर्म

3. Without Aadhar Pahal Form For Bank – जिन उपभोक्ता के पास आधार कार्ड नहीं हैं. उनको सीधे बैंक से लिंक करने के लिए निचे दिए गए फॉर्म को भरना पड़ता हैं.

यदि आपको इस योजना से सम्बंधित और भी जानकारी चाहिए तो आप इस योजना से संबंधित ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर आप और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

यूनिफाइड फॉर्म – पहले उपभोक्ता को एलपीजी गैस सिलेंडर सब्सीडी के लिए पांच फॉर्म भरने पड़ते थे. लेकिन अब गैस कम्पनीयों ने अब एक ही यूनिफाइड फॉर्म को उपलब्ध कराया हैं. जिसमे तीन केटेगरी को शामिल किया गया हैं.

1. जिनके पास आधार कार्ड हैं.

2. जिनके पास आधार कार्ड नहीं हैं.

3. जो उपभोक्ता सब्सीडी नहीं चाहते हैं.